Tag: dhat rog

Ye Hain Dhat Rog Ke Liye Labhkari Ayurvedic Nuskhe ये हैं धात रोग के लिए लाभकारी आयुर्वेदिक नुस्खे

Ye Hain Dhat Rog Ke Liye Labhkari Ayurvedic Nuskhe ये हैं धात रोग के लिए लाभकारी आयुर्वेदिक नुस्खे

धात रोग, प्रमेह (Spermatorrhoea)- पाचन विकारों के कारण वृक्कों में क्षारीय वस्तुओं की मात्रा बढ़ जाती है। वृक्कों के छिद्र क्षार की अधिकता से आंशिक रूप से गलकर चैड़े हो जाते हैं, जिससे वृक्क पहले की भांति कार्य नहीं करते हैं। अतः अजीर्ण या अपच से बिना पचे पदार्थ मूत्र के साथ अनेक रंगों में …

+ Read More

Ayurved Se Karen Dhat Rog Ka Upchar आयुर्वेद से करें धात रोग का उपचार

Ayurved Se Karen Dhat Rog Ka Upchar आयुर्वेद से करें धात रोग का उपचार

धात रोग- बिना इच्छा के स्वतः वीर्यपात होने को धातु क्षय या वीर्य प्रमेह कहते हैं। मल-मूत्र करते समय अण्डे की सफेदी जैसा या लेसदार तरल आने लगता है। अतिशय भोग-विलास या हस्तमैथुन से जननेन्द्रिय की सहिष्णुता इतनी बढ़ जाती है कि तनिक-सी उत्तेजना से वीर्य निकल जाता है। धात रोग के कारण- धात रोग …

+ Read More

Ayurved Apnayen Aur Payen Dhatu Rog Se Chutkara आयुर्वेद अपनायें और पायें धातु रोग से छुटकारा

Ayurved Apnayen Aur Payen Dhatu Rog Se Chutkara आयुर्वेद अपनायें और पायें धातु रोग से छुटकारा

धात जाने की समस्या- बिना इच्छा के स्वयं वीर्यपात होने को धातु रोग या वीर्य प्रमेह कहते हैं। मल-मूत्र करते समय अंडे की सफेदी जैसा या सहिष्णुता इतनी बढ़ जाती है कि जरा सी उत्तेजना से वीर्य निकल जाता है। यह तीन प्रकार का होता है : 1. धातु आना 2. प्रोस्टेटोरिया(सफेद पानी आना) और …

+ Read More

Problem and treatment of Spermatorrhea धात रोग की समस्या और उपचार

Problem and treatment of Spermatorrhea धात रोग की समस्या और उपचार

धातु गिरना या धात रोग को अंग्रेजी भाषा में spermatorrhea के नाम से जाना जाता है। ये आज के युवाओं की बहुत ही काॅमन समस्या है। वैसे तो ये बड़ी उम्र के लोगों को भी हो सकती है, लेकिन इसका शिकार अकसर कम उम्र के नौजवान ज्यादा होते हैं। इस रोग में वीर्य का बिना …

+ Read More